ग्राम मास्‍टर प्‍लान

मध्यप्रदेश विधानसभा द्वारा पारित संकल्प क्रमांक 14 के अनुपालन के अनुक्रम में प्रत्येक ग्राम का मास्टर प्लान बनाया गया है। ग्राम मास्टर प्लान का उद्देश्‍य ग्राम में आधारभूत सुविधाओं की उपलब्धता सुनिश्‍चत कराना है। ग्राम सभा स्तर पर नियोजन की कार्यवाही ग्राम विकास समिति के माध्यम से व्यापक जनभागीदारी सुनिश्चित कर संचालित की गई है, जिससे कि विकेन्द्रीकृत नियोजन प्रणाली में समस्त वर्गों जैसे महिलाओं, अनुसूचित जाति एवं जनजाति, विकलांग, अतिगरीब आदि सभी समूहों की आवश्‍यकताओं को ध्यान में रखते हुये ग्राम की योजना का निर्माण हो। विकेन्द्रीकृत नियोजन प्रक्रिया द्वारा ग्राम के समग्र एवं समावेशी विकास हेतु आवश्यक गतिविधियों तथा संसाधनों का आंकलन ग्राम सभा द्वारा स्वयं कर ग्राम का मास्टर प्लान तैयार किया गया है। जिससे कि गांव में शुद्ध पेयजल की व्यवस्था , बारहमासी पहुंच मार्ग, विद्युत , शिक्षा, स्वास्थ्य तथा पोषण आहार, खाद्य सुरक्षा, सिंचाई सुविधा, पंचायत/सामुदायिक भवन, इंटरनेट कियोस्क जैसी आधारभूत सुविधाओं की सुनश्चितता हो सके।

विगत वर्षों में विकेन्‍द्रीकृत नियोजन के प्रयासों के दौरान बनाए गए ग्राम मास्‍टर प्‍लान में प्रस्‍तावित गतिविधियों, विस्‍तार एवं वर्तमान स्थिति निम्‍नानुसार है -

मास्‍टर प्‍लान में प्रस्‍तावित कार्यों की संख्‍या
दर्शाये ग्रामों की संख्‍या उन ग्रामों की है जिनके मास्‍टर प्‍लान बने हैं।
क्षेत्रकवार कार्यों का प्रतिशत
ग्राम मास्‍टर प्‍लान के अंतर्गत विभागवार कार्यों की संख्‍या